{Ghatiya Log} घटिया लोगों पर शायरी 2022 [ गिरे हुए लोगों पर शायरी ]

 नमस्कार दोस्तों आज हम घटिया लोगों पर शायरी या कह सकते हैं की गिरे हुए लोगों पर शायरी लेकर आये हैं | आप इन शायरी को अपने Whatsapp Status पर या तो Facebook और Instagram पर घटिया लोगों के लिए शायरी डाल सकते है | 

हम सबको अपने जीवन में कुछ ऐसे गिरे हुए लोग मिलते है जो हमको धोका देते है वे लोग हमको कुछ और कहते है दुसरो को कुछ और इनकी ऐसी घटिया हरकत के लिए हमने आज उन मतलबी घटिया लोगो के लिए शायरी लिखी है| 

घटिया लोगों पर शायरी (गिरे हुए लोग)

घटिया लोगों पर शायरी

न कोई खुदा उसका न कोई भगवान होता है,
इस दुनिया में जो घटिया इन्सान होता है।

इस दुनिया में घटिया लोगो की कोई कम नहीं,
लोग बाहर से खुद को जितना अच्छा दिखाते है,
असल में अंदर से वो उतने ही घटिया होते है ! 

 

गिरे हुए लोगो को उठाना नही 😌
भूलना सीखो। 😈🖕

घटिया लोग गिरगिट की तरह होते है,
जो हमेशा अपना रंग बदलते रहते है !

 

घटिया लोगों पर स्टेटस


मतलबी लोगो का यही रिवाज़ होता है
सर्दी में जिस धुप की आस लगाए बैठा था,
गर्मी में देखो वो उसी धुप को गली देता है !

सामने दोस्ती और पीठ पीछे दुश्मनी निभा रहे है,
ये घटिया लोग है साहब
जो अपना किरदार बखूबी निभा रहे है !

इस दुनिया में ऐसे घटिया लोग रहते है,
जो अपने मतलब के लिए
वो किसी भी हद तक जा सकते है !

ये जरूरत पड़ने पर आगे पीछे दुम हिलाते रहते है,
अपना मतलब निकल जाने पर सब कुछ भूल जाते है !

घटिया इंसान जहरीले नाग से ही जहरीला होता है,
जो कभी भी अपना असली रूप दिखा सकता है !

 गिरे हुए लोगों पर शायरी 

गिरे हुए लोगों पर शायरी

जो मुंह पर तो आपकी तारीफ करते है,
और पीठ पीछे आपकी बुराई करते है,
ये वही लोग है जिन्हें हम घटिया कहते है !

घटिया लोगो का न खुदा न कोई भगवान होता है,
इनके मन में हर दम बसा सिर्फ सेतान होता है !

ऐसे लोगो की फितरत पहचानना मुश्किल है,
जो बाहर से कुछ और अंदर से कुछ और होते है !

घटिया लोग मतलब के लिए ही किसी से रिश्ता रखते है,
बिना मतलब के तो ये अपने सगे के भी सगे नहीं होते !

फर्जी लोगों पर शायरी | ओछे लोगों पर शायरी


पहचान तब तक नहीं होती
जब तक कोई नुकसान नहीं होता,
घटिया इन्सान का अपना
कोई दीन-ओ-ईमान नहीं होता।

उसकी हरकतों से जग उसे जान जायेगा,
घटिया आदमी कब तक अपनी पहचान छिपायेगा।

फितरत जो उनकी पहचान लेता है
घटिया लोगों को इज्ज़त कौन देता है?

नफ़रत की एक बूंद ही सारा,
माहौल बदनुमा कर गई।
जहाँ से आया है जहरीला जहर,
वह दरिया कैसा होगा।

 चापलूस लोगों पर शायरी

न त्योहारों पर न मुसीबत में
घटिया लोग मिलते हैं तो बस
अपनी जरूरत में

होते घटिया लोग हैं, आस्तीन के सांप,
राम-राम जपते रहें, करते रहते पाप।

पड़ती है जरूरत तो मुंह पर
बेशर्मी का लिबास डाल लेते हैं,
मतलब निकालने के लिए लोग
रिश्ते तक निकाल लेते हैं।

सेल्फिश लोगों के लिए शायरी

Ghatiya Log Shayari

घटिया लोगो की सबसे बड़ी पहचान यह है की,
उन्हें आप जितनी ज्यादा इज्ज़त दोगे ,,
वो आपको उतनी ही ज्यादा तकलीफ देंगे।

कभी किसी को गालियां मत देना,
बेज़्जती उसकी नहीं चीजो़ की होगी।

जो गिरा था वो गिरा सही,
घटिया होना उसकी फितरत होगी।

घटिया तेरा सोच उससे घटिया तेरा औक़ात है,
हैवानियत है तुझमें ना ही इंसानियत वाली बात है।
जिस्म से खेलना और मासूमों को नोच के खाना,
क्या यही तेरा हयात का फरहात है ।

दवाओं की कमी है रोगों की कमी नहीं है,
ये दुनिया है साहब
यहाँ घटिया लोगों की कमी नहीं है।

झूठ का नकाब जब
चेहरे से उतारा जाएगा,
घटिया इंसान कहकर
उसे पुकारा जाएगा।

चुगली करने का जिन्हें होता है रोग,
वही कहलाते हैं ज़माने में घटिया लोग।

मतलबी घटिया लोगों पर शायरी


दुनिया को मतलबी होना सिखा रहे हैं,
घटिया लोग शिद्दत से अपना किरदार निभा रहे हैं।

बदल जाते हैं वो शख्स
जिन्हें दुनिया सताती है,
कुछ लोग घटिया होते नहीं
ये दुनिया उन्हें बनाती है।

हमारे साथी बनकर हमारा इस्तेमाल करते हैं,
ये घटिया लोग भी कमाल करते हैं।

बुरे वक़्त में जो लोग अपना हाथ खींच लेते हैं
वही घटिया लोग हमें जीने की सीख देते हैं।

Final Words:-

उम्मीद है की आपको हमारी ये गिरे हुए लोगों पर शायरी और घटिया लोगों पर शायरी पसंद आई होगी |  अगर आपको घटिया लोगों पर स्टेटस या फर्जी लोगो पर शायरी चाइये तो कमेंट बॉक्स में बता देना | 

अगर आपके पास भी घटिया लोगों की पहचान शायरी या ओछे लोगों पर शायरी और  चापलूस लोगों पर शायरी हो तो आप उन्हें निचे हमारे साथ शेयर कर सकते हो | 

Thanks for Visiting...

इन्हे भी पढ़े:-

Related Posts

Post a Comment